Home >> Business >> आरबीआई ने नए नोटों की छपाई के ऑर्डर में कटौती की

आरबीआई ने नए नोटों की छपाई के ऑर्डर में कटौती की

नई दिल्ली . रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) ने नए नोटों की छपाई के ऑर्डर में कटौती कर दी है.यह कटौती बीते पांच सालों में सबसे कम है. इसका कारण करेंसी चेस्ट में पर्याप्त स्थान न होना है.यह जानकारी एक मीडिया रिपोर्ट के जरिए सामने आई है.

रिपोर्ट्स के मुताबिक भारतीय रिजर्व बैंक के करेंसी चेस्ट  कॉमर्शियल बैंकों में स्थान न होने का मुख्य कारण बीते साल राष्ट्र में नोटबंदी के बाद पुराने 500  1000 रुपये के नोटों को चलन से बाहर करना है. ये पुराने नोट इन करेंसी चेस्ट में पहले से पड़े हैं.

loading...

वित्त साल 2018 करेंसी ऑर्डर 21 बिलियन करेंसी पीस रहा है. यह आंकड़ा बीते साल 28 बिलियन करेंसी पीस रहा था. साथ ही बीते पांच सालों में बैंकनोटों का औसतन सालाना ऑर्डर 25 बिलियन पीस रहा है. बताते चलें कि बीते साल आठ नवंबर को गवर्नमेंट ने ब्लैक मनी पर रोकथाम के उदेश्य से राष्ट्र में नोटबंदी लागू कर दी थी. रिपोर्ट्स में यह भी बताया गया है कि भारतीय रिजर्व बैंक ने 10,20  50 रुपये के गुणांक के कटे फटे नोट फिर से जारी किये थे जब इकॉनामी में कैश की भारी किल्लत चल रही थी.

आरबीआई के डेटा के मुताबिक इस वर्ष 13 अक्टूबर तक सर्कुलेशन में 15.3 लाख करोड़ रुपये थे. यह बीते साल की तुलना में 10 फीसद कम है. इससे इस बात का इशारा मिलता है कि गवर्नमेंट के कैशलैस इकॉनोमी के उदेश्य को प्रोत्साहन मिल रहा है.

About Ramesh Yadav