Home >> Health >> जानिए! कितना खास है प्रेग्नेंसी के पहले 3 महीने

जानिए! कितना खास है प्रेग्नेंसी के पहले 3 महीने

Image result for प्रेग्नेंसी के पहले 3 महीनेप्रेग्नेंसी कंफर्म होते ही सलाह का सिलसिला प्रारम्भ हो जाता है. इधर-उधर से आने वाली सलाहों से कई बार कन्फ्यूजन बढ़ जाता है. ऐसे में सबसे महत्वपूर्ण है कि मां बनने वाली महिला को यह पता हो कि उसे कब क्या करना है? क्या नहीं? डॉक्टरों के मुताबिक, गर्भावस्था के शुरुआती तीन महीने बहुत मायने रखते हैं. अगर इस दौर में महिला सावधानी से रहे, तो उनका बच्चा न प्रीमैच्योर होता है, न ही शारीरिक रूप से विकलांग.

हलके में न लें
डॉक्टरों के मुताबिक, कई महिलाएं गर्भावस्था के शुरुआती तीन महीने यानी फर्स्ट ट्राइमेस्टर को बेहद हलके में लेती हैं, जबकि यह समय सबसे जरूरी होता है. इसी दौरान गर्भ में भ्रूण का विकास होना प्रारम्भ होता है. आपका बॉडी कई तरह के शारीरिक  हार्मोनल बदलावों से गुजरता है. ये महीने सबसे ज्यादा चुनौती-भरे भी होते हैं, क्योंकि इस दौर में होने वाले परिवर्तन आपके लिए बिल्कुल नए होते हैं. खाने के टेस्ट  स्किन में भी परिवर्तन आने लगते हैं. मानसिक रूप से चिड़चिड़ापन भी स्वाभाविक है. इस वक्त पति को खासतौर पर धैर्य रखना चाहिए  पत्नी को सहारा देना चाहिए.इन्हीं महीनों में अबॉर्शन की संभावना सबसे ज्यादा होती है.

loading...

इनका रखें सबसे ज्यादा ख्याल
डॉक्टरों का कहना है कि प्रेग्नेंसी के शुरुआती महीनों में ज्यादा भीड़भाड़, प्रदूषण  रेडिएशन वाली स्थान पर जाने से बचना चाहिए. ऊबड़-खाबड़ रास्तों पर ट्रैवलिंग करने से भी बचें. मॉर्निंग सिकनेस से बचने के लिए नींबू-पानी या अदरक की चाय पी जा सकती हैं. दिनभर में चार या पांच बार तरल चीजें, जैसे छाछ, नींबू-पानी, नारियल पानी, फलों का जूस या शेक पीएं. इससे बॉडी में पानी की कमी नहीं होगी. इन तीन महीनों में बच्चे के अंग बनने प्रारम्भ होते हैं. ऐसे में खाने की मात्रा से ज्यादा उसकी क्वॉलिटी पर ध्यान देना महत्वपूर्ण है.

About Ramesh Yadav