Home >> International >> विवादित एससीएस में टापू पर निर्माण काम फिलीपीन ने रोक दिया

विवादित एससीएस में टापू पर निर्माण काम फिलीपीन ने रोक दिया

Related imageमनीला: चीन के विरोध के बाद फिलीपीन के राष्ट्रपति रोड्रिगो दुतार्ते ने विवादित दक्षिण चाइनासागर (एससीएस) में हाल में उभरे एक टापू पर निर्माण काम रोक दिया है पहली बार नये क्षेत्रीय टकराव के बारे में विवरण देते हुए सैन्य प्रमुख ने बुधवार (8 नवंबर) को यह बात कही लॉरेनजाना ने बताया कि सेंडी नामक टापुओं के समूह पर अगस्त में टकराव हुआ जिसके बाद चाइना  फिलीपीन ने कुछ व्यवस्था बनाने पर विचार किया, ताकि स्थिति नियंत्रण से बाहर ना हो उन्होंने बोला कि स्प्रेटली द्वीप समूह में फिलीपीन के कब्जे वाले थिटू द्वीप के निकट उभरे बालुओं के छोटे से टापू को लेकर टकराव सुलझा नहीं है, लेकिन दोनों पक्षों ने किसी नये एरिया पर कब्जा नहीं करने का वचन दिया है दक्षिण चाइना सागर के बड़े हिस्से पर चाइना अपना दावा करता है, जिसपर फिलीपीन चार अन्य राष्ट्र भी अपना हक जमाते हैं पिछले वर्ष दुतार्ते के राष्ट्रपति बनने  बीजिंग के साथ ठंडे संबंधों को सामान्य बनाने के लिए उठाए गए कदमों के बाद तनाव में कमी आई थी

बीते 28 अप्रैल को फिलीपींस के राष्ट्रपति रोड्रिगो दुतेर्ते ने दोहराया था कि दक्षिण चाइना सागर मुद्दे पर उनका राष्ट्र चाइना के साथ द्विपक्षीय बातचीत जारी रखेगा उन्होंने बोला कि दक्षिण चाइनासागर मुद्दे को हल करने का यही सबसे अच्छा उपाय है दुतेर्ते से जब पूछा गया कि चाइना के साथ इस मामले से निपटने के लिए सबसे अच्छा उपाय क्या है, तो उन्होंने कहा, “हम जो अभी कर रहे हैं बात यही एकमात्र विकल्प है  बातचीत ” दुतेर्ते ने फिलीपींस के दौरे पर आए ब्रुनेई के सुल्तान हसन अल बोलकिया के साथ संयुक्त बयान देने के बाद मलकानंग राष्ट्रपति भवन में संवाददाताओं से बात में की

वहीं बीते 15 जुलाई को इंडोनेशिया ने विवादित दक्षिण चाइना सागर के उत्तरी हिस्सों में पड़ने वाले अपने विशिष्ट आर्थिक एरिया को ‘उत्तर नतुना सागर’ नाम दिया था सीएनएन की रिपोर्ट के अनुसार, जकार्ता में शनिवार (15 जुलाई) को एक संवाददाता सम्मेलन में समुद्री संप्रभुता मामलों के उप मंत्री आरिफ हवास ओएग्रोसेनो ने इस एरिया के बदले हुए नाम के साथ एक नए मानचित्र का अनावरण किया था

loading...

इंडोनेशिया द्वारा नाम में बदलाव वाला यह एरिया चाइना द्वारा बनाए गए विवादित ‘नाइन डैश लाइन’ एरिया में पड़ता है यह चाइना के द्वीपीय प्रांत हैनान के दक्षिण  पूर्व के सैंकड़ों मीटर तक फैला हुआ है सीएनएन की रिपोर्ट के अनुसार, चाइना इस विवादित समुद्र के पूरे एरिया पर दावा करता है, लेकिन वियतनाम, ताइवान, फिलीपीन्स, ब्रुनेई  मलेशिया सभी अपने अपने समुद्री किनारों के पास वाले हिस्से पर अपना दावा करते हैं

इंडोनेशिया पहला राष्ट्र नहीं है, जिसने ‘दक्षिण चाइना सागर’ के किसी हिस्से का का दोबारा नाम रखा है इससे पहले 2011 में फिलीपीन्स ने इस समुद्री एरिया का नाम ‘पश्चिम फिलीपीन्स सागर’ रखा था  दो साल बाद वह इस एरिया के टकराव को हेग स्थित अंतरराष्ट्रीय कोर्ट ले गया था जुलाई 2016 में, अंतरराष्ट्रीय कोर्ट ने इस मामले में फिलीपीन्स के पक्ष में निर्णय सुनाया था कोर्ट ने माना था कि चाइना को ‘दक्षिण चाइना सागर’ के हिस्से पर अपना दावा जताने का कोई कानूनी आधार नहीं है चाइना ने इस फैसला को मजाक बताते हुए उसकी निंदा की थी

About Ramesh Yadav