Thursday , 21 June 2018
Loading...
Breaking News

हिंदुस्तान सहित 90 राष्ट्रों में वैतनिक पितृत्व अवकाश का नहीं है प्रावधान

हिंदुस्तान समेत तमाम राष्ट्रों में मातृत्व अवकाश के लिए नियम लागू होने के बाद पिता के लिए भी नए नियमों की मांग उठने लगी है यूनिसेफ की ताजा रिपोर्ट में इस बात को बोलागया है कि हिंदुस्तान संसार के करीब ऐसे 90 राष्ट्रों में शामिल है जहां पिता बनने वालों को अपने नवजात बच्चों के साथ समय बिताने के लिए पर्याप्त वैतनिक छुट्टी मिलने की कोई राष्ट्रीय नीति नहीं है

Image result for वैतनिक पितृत्व अवकाश का नहीं है प्रावधान

यूनिसेफ के ताजा विश्‍लेषण में बताया गया है कि संसार के बच्चों में से करीब दो तिहाई एक वर्ष से कम आयु के हैं  यह संख्या करीब 9 करोड़ है ये बच्चे उन राष्ट्रों में रहते हैं, जहां उनके पिता कानून के तहत एक भी वैतनिक छुट्टी के हकदार नहीं हैं, जबकि इस आयु के बच्चों को मां के साथ-साथ पिता की भी आवश्यकता होती है हिंदुस्तान  नाइजीरिया में शिशुओं की संख्या बहुत ज्यादा अधिक है ये उन 90 राष्ट्रों में से है, जहां पर पिताओं को नवजात शिशु के साथ समय बिताने के लिए पर्याप्त वैतनिक अवकाश मिले, ऐसी कोई राष्ट्रीय नीतियां कार्यस्थलों को लेकर फिल्हाल नहीं बनी है

बच्चों के एरिया में कार्य करने वाली संयुक्त देश की संस्था ने ज़िक्र किया है कि पूरी संसार में परिवार अनुकूल नीतियों के लिए माहौल में बहुत तेजी से सुधार हो रहा है इसमें हिंदुस्तान का उदाहरण देते हुए बोला गया है कि वहां पर संसद में अगले सत्र में पितृत्व फायदा बिल को विचारार्थ पेश करने का प्रस्ताव रखा जा रहा है इसमें पिताओं को तीन महीने का वैतनिक अवकाश दिए जाने का प्रस्ताव होगा, जिससे उन पिताओं को शिशु के साथ समय बिताने  बिना वेतन कटे छुट्टी मिल सके

यूनिसेफ ने बोला कि करीब 40 लाख नवजात बच्चों की आबादी वाले अमेरिका सहित संसार के आठ राष्ट्रों में वैतनिक मातृत्व या पितृत्व अवकाश देने की नीति नहीं है