Thursday , 21 June 2018
Loading...
Breaking News

एयर इंडिया की 76 फीसद हिस्सेदारी बेचने में नाकाम रही गवर्नमेंट

एयर इंडिया की 76 फीसद हिस्सेदारी बेचने में नाकाम रही गवर्नमेंटअब महाराजा का दर्जा प्राप्त सरकारी विमानन कंपनी की 100 फीसद हिस्सेदारी बेचने पर विचार कर रही है. पहले दौर की हिस्सेदारी बिक्री के दौरान एयर इंडिया को एक भी बिडर से बोली प्राप्त नहीं हुई थी. बताते चलें कि एयर इंडिया की 76 फीसद हिस्सेदारी बिक्री को विशेषज्ञों ने राष्ट्रीय विमानवाहक कंपनी में रणनीतिक विनिवेश की दिशा में एक बड़ी बाधा करार दिया था.

Image result for एयर इंडिया की 76 फीसद हिस्सेदारी बेचने में नाकाम रही गवर्नमेंट

एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक आर्थिक मामलों के सचिव सुभाष चंद्र गर्ग ने जानकारी दी है कि एक निश्चित प्रकार की रणनीति की पेशकश की गई थी, जिसे कोई बोलीदाता प्राप्त नहीं हुआ लिहाजा अब कुछ अलग करना होगा. उन्होंने बोला कि यह कोई निश्चित उद्देश्य नहीं है कि गवर्नमेंट के पास 24 फीसद भाग होना ही चाहिए. इसकी पुन: जांच की जा सकती है. लेनदेन सलाहकार से चर्चा के बाद विनिवेश के तहत 100 फीसद हिस्सेदारी बेचने की चर्चा प्रारम्भ हुई है.

इससे पहले गवर्नमेंट ने जब एयर इंडिया की 76 फीसद हिस्सेदारी बिक्री का निर्णय किया था तब उसे कोई भी बोलीदाता प्राप्त नहीं हुआ  इसके लिए बोली प्रक्रिया मई के आखिर में समाप्त हो गई थी.ऐसा माना गया कि विमानन कंपनी में 24 फीसद हिस्सेदारी अपने पास रखने का गवर्नमेंट का निर्णय कई संभावित बोलीदाताओं के लिए बड़ी अड़चन साबित हुआ.

Loading...