Thursday , 21 June 2018
Loading...
Breaking News

प्रहलाद जानी का दावा-70 वर्षों से कुछ नहीं खाया-पिया

गुजरात के योगी प्रहलाद जानी इस समय राष्ट्र में ही नहीं, बल्कि दुनियाभर में चर्चा का विषय बने हुए हैं. योगी प्रहलाद का दावा है कि उन्होंने सात दशक से न तो कुछ खाया है  न ही पानी की एक बूंद पी है. लेकिन बावजूद इसके वह 85 वर्ष की आयु में बिलकुल स्वस्थ हैं. जानी को लोग ‘चुनरी वाली माता’ के नाम से पुकारते हैं.

Image result for प्रहलाद जानी का दावा-70 वर्षों से कुछ नहीं खाया-पिया

प्रहलाद जानी के इस कारनामे से डॉक्टरों के साथ-साथ वैज्ञानिक भी दंग हैं. उन्हें विश्वास नहीं हो रहा है कि कैसे एक आदमी बिना खाए-पिए इतने वर्षों तक जिंदा रह सकता है. इन वैज्ञानिकों में राष्ट्र के पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल कलाम भी शामिल थे, जो जानी की अनूठी जीवनशैली का रहस्य जानने के लिए उत्सुक थे. इस रहस्य पर से पर्दा उठाने के लिए जानी के कई मेडिकल टेस्ट भी हुए. राष्ट्र की जानी-मानी संस्था डीआरडीओ के वैज्ञानिकों की टीम ने सीसीटीवी कैमरे की नजर में 15 दिनों तक 24 घंटे नजर में रखा. यहां तक की उनके आश्रम के पेड़-पौधों का भी टेस्ट किया. लेकिन इन सबका कुछ नतीजा नहीं निकल सका.

पीने  उत्सर्जन की क्रिया से पूर्ण मुक्त रहने के दावे का बार-बार चिकित्सकीय  वैज्ञानिक परीक्षण किया जा चुका है. उनका परीक्षण करने वाले प्रख्यात न्यूरोलॉजिस्ट डॉ सुधीर शाह के अनुसार उनका शारीरिक ट्रांसफार्मेशन हो चुका है.

गंभीर बीमारियों का करते हैं इलाज

यह भी पढ़ें:   बिहार मे चलती ट्रेन में हुआ भीषण धमाका

जानी का दावा है कि वह कई ऐसी बीमारियों का भी उपचार कर सकते हैं जिसका डॉक्टरों के पास भी उपचार नहीं है. उनका दावा है कि वह एड्स, एचआइवी जैसी गंभीर बीमारियों का उपचार सिर्फ एक फल देकर कर सकते हैं. यही नहीं वह निसंतान व्यक्तियों का भी उपचार कर सकते हैं. गुजरात के जसवंत पटेल का कहना है कि माताजी ने सैकड़ों लोगों की बीमारी का उपचार किया है.

Loading...

महिलाओं की तरह करते हैं श्रृंगार

प्रह्लाद जानी का जन्म 13 अगस्त 1929 को हुआ था  महज 10 साल की आयु में ही उन्होंने अध्यात्मिक ज़िंदगी के लिए अपना घर छोड़ दिया था. एक वर्ष तक वह माता अंबे की भक्ति में डूबे रहे, जिसके बाद वह साड़ी, सिंदूर  नाक में नथ पहनने लगे. वह पूरी तरह से स्त्रियों की तरह श्रृंगार करते हैं. पिछले 50 साल से जानी गुजरात के अहमदाबाद से 180 किलोमीटर दूर पहाड़ी पर अंबाजी मंदिर की गुफा के पास रहते हैं.

पीएम मोदी भी जा चुके हैं जानी के आश्रम

यह भी पढ़ें:   आज आ सकता है जज लोया मामले में फैसला

प्रहलाद जानी के आश्रम कई पॉलिटिक्स हस्तियां जाती रहती हैं. उनकी लोकप्रियता का अंदाजा आप इसी बात लगा सकते हैं कि पीएम मोदी भी उनके आश्रम जा चुके हैं.

Loading...