Thursday , 21 June 2018
Loading...
Breaking News

रिटायर्ड टीचर व यूनिवर्सिटी के नॉन-टीचिंग स्टॉफ को मिलेगा 23 लाख

 नरेंद्र मोदी गवर्नमेंट की तरफ से हाल ही में लिए गए निर्णय का लाभ करीब 23 लाख रिटायर्ड टीचर  यूनिवर्सिटी के नॉन-टीचिंग स्टॉफ को मिलेगा दरअसल केंद्र गवर्नमेंट ने सेंट्रल यूनिवर्सिटी  इनके कॉलेज में कार्य कर चुके रिटायर्ड फैकल्टी  नॉन-टीचिंग स्टॉफ की पेंशन को रिवाइज करने का फैसला लिया है यह परिवर्तन गवर्नमेंट ने की अनुशंसा के आधार पर किया है इस निर्णय के लागू होने से सेंट्रल यूनिवर्सिटी के करीब 25 हजार मौजूदा पेंशनभोगियों को 6 हजार से 18 हजार रुपये तक का लाभ होगा

Image result for  नरेंद्र मोदी गवर्नमेंट की तरफ से हाल

ट्विट के माध्यम से दी जानकारी
इसके अतिरिक्त गवर्नमेंट के इस निर्णय का लाभ ऐसे 8 लाख अध्यापक, 15 लाख नॉन-टीचिंग स्टॉफ को भी मिलेगा जो स्टेट पब्लिक यूनिवर्सिटी  इनसे संबद्ध कॉलेज से रिटायर हुए हैं इस विषय में यूनियन एचआरडी मिनिस्टर प्रकाश जावड़ेकर ने ट्विट कर जानकारी दी जावड़ेकर ने अपने ट्विट में लिखा ‘नरेंद्र मोदी गवर्नमेंट ने सेंट्रल यूनिवर्सिटी की रिटायर्ड फैकल्टी  अन्य नॉन टीचिंग स्टॉफ की पेंशन के अनुसार रिवाइज की है ‘

कई राज्यों में चल रहे धरने प्रदर्शन
उन्होंने लिखा गवर्नमेंट के इस फैसला से 25 हजार मौजूदा पेंशनभोगियों को लाभ होगा गवर्नमेंट के इस कदम से 8 लाख टीचिंग  15 लाख नॉन टीचिंग स्टॉफ को भी लाभ होगाइसके अतिरिक्त कई राज्यों गवर्नमेंट ने अपने कर्मचारियों की सैलरी वेतन आयोग की अनुशंसा के अनुसार बढ़ाने का वायदा किया है लेकिन कई राज्यों में अभी भी कर्मचारी सातवें वेतन आयोग के अनुसार वेतन देने की मांग को लेकर अलग-अलग विभागों के कर्मचारी धरना-प्रदर्शन कर रहे हैं

इससे पहले मिजोरम गवर्नमेंट ने राज्य गवर्नमेंट के कर्मचारियों का वेतन की सिफारिश के अनुसार बढ़ाने का निर्णय किया गवर्नमेंट के इस फैसला के बाद मिजोरम के सरकारी कर्मचारियों को के अनुसार वेतन वृद्धि का लाभ 1 जनवरी 2016 से मिलेगा मिजोरम में गवर्नमेंट के इस निर्णय का लाभ 42 हजार स्थायी कर्मचारियों  34 हजार अन्य कर्मचारियों को मिलेगा