Wednesday , 20 June 2018
Loading...
Breaking News

विभाग की ओर से आईटीआर से संबंधित सातों फॉर्म उपलब्ध

वित्त साल 2017-18 के लिए इनकम कर रिटर्न दाखिल करने की आखिरी तारीख 31 जुलाई 2018 है. हाल ही में विभाग की ओर से आईटीआर से संबंधित सातों फॉर्म उपलब्ध करवा दिए गए हैं. ऐसे में आपके लिए जानना महत्वपूर्ण है कि बतौर करदाता आपके लिए कौन सा फॉर्म भरना महत्वपूर्ण है. हम अपनी इस समाचार में आपको आईटीआर-1 फॉर्म के बारे में जानकारी दे रहे हैं कि इसे कौन भर सकता है  कौन नहीं.

Image result for विभाग की ओर से आईटीआर से संबंधित सातों फॉर्म उपलब्ध

ITR-1: आईटीआर-1 फॉर्म को सहज फॉर्म बोला जाता है. इसे वो लोग भर सकते हैं, जिनकी आय का प्राथमिक स्रोत सैलरी या पेंशन है. यह फॉर्म पर्सनल (इंडिविजुअल) करदाताओं के लिए होता है  इसे 50 लाख रुपए से कम की आय वाले करदाता ही भर सकते हैं. इसमें जॉब से होने वाली आय, हाउस प्रॉपर्टी (सिर्फ एक घर) से होने वाली आय  अन्य आय (ब्याज एवं कमीशन से होने वाली आय) शामिल होती है.

कौन नहीं भर सकता है ITR-1: बीते आकलन साल के दौरान आईटीआर-1 नॉन रेजिडेंट के लिए भी उपलब्ध था. लेकिन वर्तमान आकलन साल से ये लोग इस फॉर्म का प्रयोग नहीं कर सकते हैं. इसके अतिरिक्त ऐसे पर्सनल लोग जिनके पास 10 लाख से ज्यादा की डिविडेंट इनकम है या फिर उन्हें कैपिटल गेन से आय हुई है उन्हें भी अन्य आईटीआर फॉर्म का प्रयोग करना चाहिए. इसके अतिरिक्तऐसे लोग जिन्हें कृषि से आय (5,000 से ज्यादा) होती है या फिर अन्य किसी बिजनेस या प्रोफेशन से आय होती है तो उन्हें भी अलग फॉर्म भरना होगा.