Wednesday , 20 June 2018
Loading...
Breaking News

एनडीए गवर्नमेंट के कार्यकाल में कृषि उत्पादन एवं उत्पादकता में हुआ इजाफा

यूपीए गवर्नमेंट की तुलना में एनडीए गवर्नमेंट के कार्यकाल में कृषि उत्पादन एवं उत्पादकता में इजाफा हुआ है. यह बात केंद्रीय मंत्री राधा मोहन सिंह ने कही है. उन्होंने बोला कि एनडीए की गवर्नमेंट ने इस एरिया में नीतिगत सुधारों को भी गति दी है.

Image result for राधा मोहन सिंह

उन्होंने कहा, “नरेंद्र मोदी गवर्नमेंट के चार वर्ष के कार्यकाल में वित्त साल 2017-18 के दौरान औसत खाद्यान्न उत्पादन बढ़कर 28 करोड़ टन हो गया है जबकि वित्त साल 2010-2014 के दौरान 25.5 करोड़ टन का औसत उत्पादन रहा था, जब कांग्रेस पार्टीनेतृत्व वाली यूपीए गवर्नमेंट सत्ता में थी.

Loading...

सिंह जो कि बिहार में बीजेपी के नेता हैं, एनडीए गवर्नमेंट के चार सालों की विभिन्न योजनाओं, परियोजनाओं  उनके मंत्रालय की उपलब्धियों पर पत्रकारों से बात कर रहे थे. उन्होंने यहां पर बोला कि केंद्र गवर्नमेंट किसानों के लिए ऐसी कल्याणकारी योजनाओं को लेकर आई है, जो केवल उत्पादन बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित करने के बजाय किसानों की आय बढ़ाने पर जोर देती है.उन्होंने कहा, “यही कारण है कि गवर्नमेंट बागवानी, मत्स्य पालन, डेयरी इत्यादि के उत्पादन पर जोर दे रही है.

उन्होंने बोला कि वर्ष 2010 से वर्ष 2014 के दौरान औसत बागवानी उत्पादन 26.5 करोड़ टन था, जो 2017-18 में 30.7 करोड़ टन हो गया. सिंह ने बोला कि साल 2010-2014 की तुलना में साल 2014-18 के दौरान मत्स्य उत्पादन में 26 फीसद की वृद्धि देखी गई, जबकि डेयरी उत्पादन में 23.69 फीसद की वृद्धि हुई है. सिंह ने यह भी बोला कि एनडीए गवर्नमेंट ने अब तक पांच केंद्रीय बजटों में कृषि एरिया को भारी आवंटन किया है. उन्होंने बोला कि यूपीए गवर्नमेंट के दौरान 1.21 लाख करोड़ रुपए के मुकाबले एनडीए गवर्नमेंट में आवंटन 2.11 लाख करोड़ रुपए रहा है.