Saturday , 26 May 2018
Loading...

सपा ने कांग्रेस से किनारा कर बीएसपी से हाथ मिलाया

लखनऊ : कहा जाता है कि पॉलिटिक्स में कोई किसी का सगा नहीं होता जो आज आपके साथ है , वह कल दूसरे के साथ खड़ा दिखाई दे सकता है ऐसा ही नज़ारा इन दिनों उत्तर प्रदेश में दिखाई दे रहा है  पिछले उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी के राहुल गाँधी को अपनी साइकल पर बैठाकर मिलकर चुनाव लड़ने वाले अखिलेश यादव ने आगामी लोकसभा के लिए इस बार कांग्रेस पार्टी से किनारा कर बीएसपी से हाथ मिला लिया है

Image result for सपा -बसपा , कांग्रेसबता दें कि पिछले दिनों हुए गोरखपुर  फूलपुर लोक सभा उप चुनाव में कांग्रेस पार्टी की किरदार की आलोचना करते हुए अखिलेश यादव ने कई बार बोला कि कांग्रेस पार्टी ने फूलपुर  गोरखपुर सीटों के उप-चुनाव लड़कर खुद ही अपनी नाव डुबोई है एक प्रमुख कांग्रेसी नेता से मिलने कि दौरान पूर्व CMयादव ने उनको स्पष्ट किया कि कांग्रेस पार्टी सपा, बीएसपी उम्मीदवारों के लिए अपने मतों को स्थानांतरित करने में असफल रही है इसलिए अच्छा होगा कि कांग्रेस पार्टी यूपी में अपने बल पर लोकसभा चुनाव लड़े

उल्लेखनीय है कि कांग्रेस पार्टी के प्रति अपने नजरिए को बदलते हुए सपा  बीएसपी ने कांग्रेस पार्टीके प्रति सद्भावना के नाम पर एहसान दिखाते हुए इतना किया है कि उन्होंने अमेठी  रायबरेली की सीटों को कांग्रेस पार्टी के लिए छोड़ दिया है अखिलेश यादव ने कांग्रेस पार्टी नेता को स्पष्ट कह दिया है कि कांग्रेस पार्टी को खुश करके वह मायावती को नाराज नहीं करेंगे  जाहिर है उत्तर प्रदेश में अगला लोक सभा चुनाव कांग्रेस पार्टी को अकेले ही लड़ना है

Loading...