Loading...

मुस्लिम महिला के खिलाफ फतवा, बचाव में आए रामदेव, बोले- योग को धर्म के साथ न जोड़ें

Baba Ramdev defends yoga and muslim woman yoga teacher from Ranchiमुंबई​: महाराष्ट्र के सोलापुर जिले में गुड़ी पड़वा पर्व पर स्त्रियों के लिए आयोजित किए गए एक प्रोग्राम में मुस्लिम महिलाएं योग गुरु बाबा रामदेव के साथ योग करते देखी गईं इस प्रोग्राम का आयोजन सोलापुर के इंदिरा गांधी स्टेडियम में किया गया था, जहां भारी संख्या में लोग मौजूद थे भीड़ में मौजूद स्त्रियों में से कई महिलाएं मुस्लिम भी थीं, जिन्होंने पूरे प्रोग्राम के दौरान योग किया इस प्रोग्राम में महाराष्ट्र के CM देवेंद्र फडणवीस  हेमा मालिनी भी शामिल हुए थे

जानकारी के अनुसार जब बाबा रामदेव प्रोग्राम के दौरान मंच पर से ताड़ासन सीखा रहे थे तब उन्हें भीड़ में बैठी हुई दो महिलाएं इस सरल को बिलकुल अच्छा तरीके से करती हुई नज़र आईं इसके बाद बाबा रामदेव ने हमिदा रिजवाना नामक दोनों स्त्रियों को मंच पर अपने साथ योग करने के लिए बुला लिया मंच पर मौजूद रिजवाना जब हिचकिचाईं तो बाबा रामदेव ने लोगों से उनके लिए तालियां बजाते हुए उनका उत्साहवर्धन करने के लिए कहा, जिसके बाद दोनों महिलाऐं मंच पर बाबा रामदेव के साथ योग करने लगीं

loading...

कार्यक्रम के दौरान बाबा रामदेव ने स्त्रियों को सलाह दी कि उन्हें रोज योग करना चाहिए उन्होंने बोला कि, योग शारीरिक  मानसिक सेहत बनाए रखने के लिए बहुत ज्यादा उत्तम होता है योग से कई बीमारियां दूर होती है इसीलिए महत्वपूर्ण है कि हमें रोज प्रातः काल उठकर कुछ समय के लिए योग करना चाहिए बताते चलें कि पिछले वर्ष नवंबर में झारखंड में योग सिखाने वाली प्रसिद्ध मुस्लिम लड़की राफिया नाज के विरूद्ध फतवा जारी कर दिया गया था  उन्हें जान से मारने कि धमकी भी दी गईं थी, जिसके बाद पुलिस ने उन्हें सुरक्षा मुहैया करवाई थी