Loading...

निकाय चुनाव रिजल्ट: यूपी में योगी से पहले कहां खड़ी थी बीजेपी?

मार्च 2017 में यूपी के सीएम बने योगी आदित्यनाथ

नई दिल्लीयूपी के वर्तमान CM योगी आदित्यनाथ के कार्यकाल को आज एक वर्ष पूर्ण हो गया है, लेकिन गोरखपुर  फूलपुर उपचुनाव की पराजय ने योगी गवर्नमेंट के 1 वर्ष पूरा होने के जश्न को फीका कर दिया हैउपचुनाव परिणाम आने से पहले गवर्नमेंट इस आयोजन को बड़े भव्य तरीके से मनाने की तैयारियां कर रही थी लेकिन नतीजों ने बीजेपी के मंसूबों पर पानी फेर दिया अब गवर्नमेंट ने तय किया है कि जश्न मनाया जाएगा लेकिन उसका स्वरूप बहुत ही छोटा होगा

सरकार ने इस प्रोग्राम का नाम ‘1 वर्ष बेमिसाल’ रखा है हालांकि आधिकारिक तौर पर गवर्नमेंट की तरफ से इस प्रोग्राम के स्वरूप को लेकर अभी तक मीडिया को कोई जानकारी नहीं दी गई है मुख्य मेहमान के रुप में प्रदेश के गवर्नर राम नाईक  अध्यक्षता CM योगी आदित्यनाथ करेंगे बताते चलें कि यूपी में भाजपा साझेदारी ने पिछले वर्ष 325 सीटें जीतकर सत्ता में 2002 के बाद वापसी की थी भाजपा ने अकेले दम पर 311 सीटों पर जीत हासिल की थी प्रचंड बहुमत वाली गवर्नमेंट की कमान योगी आदित्यनाथ के हाथों में सौपीं गई थी  19 मार्च 2017 को योगी ने CM के रूप में शपथ ली थी

loading...

आपको बता दें कि, प्रदेश में भाजपा गवर्नमेंट बनने के बाद सहारनपुर में हुई जातीय हिंसा के बाद कासगंज में सांप्रदायिक दंगा दूसरी बड़ी घटना थी, जिससे प्रदेश की कानून व्यवस्था पर कड़े सवाल उठे हैं कासगंज के अतिरिक्त अपटा गांव का ब्राह्मण-यादव संघर्ष, गोरखपुर में ऑक्सीजन की कमी से सैकड़ों बच्चों की मौत, नोएडा में जिम ट्रेनर का संदेहास्पद एनकाउंटर जैसे कई कलंक योगी के शासनकाल में लगे हैं

Loading...