Home >> Business >> कार्ति चिदंबरम के परिसरों पर प्रवर्तन निदेशालय ने मारी   छापेमारी

कार्ति चिदंबरम के परिसरों पर प्रवर्तन निदेशालय ने मारी   छापेमारी

Image result for kaarti chidambaram

नई दिल्ली : प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने शनिवार को कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम के पुत्र कार्ति चिदंबरम के कई परिसरों पर छापेमारी की यह छापेमारी एयरसेल- मैक्सिस मामले में मनी लांड्रिंग जांच के सिलसिले में की गई है आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि शनिवार प्रातः काल से ही कार्ति के दिल्ली  चेन्नई परिसरों पर छापेमारी चल रही है केंद्रीय जांच एजेंसी ने पिछले वर्ष एक दिसंबर को इसी मामले में कार्ति के एक रिश्तेदार  अन्य के परिसरों पर छापेमारी की थी प्रवर्तन निदेशालय का यह मामला 2006 में तत्कालीन वित्त मंत्री पी चिदंबरम द्वारा दी गई विदेशी निवेश संवर्द्धन बोर्ड (एफआईपीबी) की मंजूरी से संबंधित है

कार्ति ने गुड़गांव में एक संपत्ति बेच दी
एजेंसी ने बोला था कि वह तत्कालीन वित्त मंत्री द्वारा दी गई एफआईपीबी मंजूरी की परिस्थितियों की जांच कर रही है प्रवर्तन निदेशालय का यह भी आरोप है कि कार्ति ने गुड़गांव में एक संपत्ति बेच दी है यह संपत्ति एक बहुराष्ट्रीय कंपनी को किराये पर दी गई थी इस कंपनी को 2013 में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) की मंजूरी मिली थी

यह भी पढ़ें:   Delhi Police में 707 पद खाली , 10वीं पास भी कर सकते हैं इसके लिए आवेदन

:

Loading...
loading...

कार्ति ने कुछ बैंक खाते बंद कर दिए
यह भी आरोप है कि मनी लांड्रिंग रोधक कानून (पीएमएलए) के तहत कुर्की की प्रक्रिया से बचने के लिए कार्ति ने कुछ बैंक खाते बंद कर दिए हैं  कुछ अन्य खातों को बंद करने का कोशिश किया हैएजेंसी का आरोप है कि एयरसेल मैक्सिस एफडीआई मामले को मार्च, 2006 में तत्कालीन वित्त मंत्री ने एफआईपीबी की मंजूरी दी थी

:

हालांकि, वह सिर्फ 600 करोड़ रुपए तक के प्रस्तावों को ही मंजूरी देने के सक्षम थे इससे अधिक राशि के मामले में मंत्रिमंडल की आर्थिक मामलों की समिति (सीसीईए) की मंजूरी महत्वपूर्ण थीइस मामले में 80 करोड़ डॉलर या 3,500 करोड़ रुपये के एफडीआई की मंजूरी दी गई इसमें सीसीईए की मंजूरी नहीं ली गई