Home >> Business >> UIDAI का नया प्लान ,अब नहीं रहेगा आधार डाटा चोरी का डर

UIDAI का नया प्लान ,अब नहीं रहेगा आधार डाटा चोरी का डर

आधार धारकों की निजता  सुरक्षा को  मजबूत बनाने के लिए यूआईडीएआई आधार धारकों के लिए वर्चुलअल आईडी लाने जा रहा है.

यूआईडीएआई आधार कार्ड धारकों को वर्चुलअल आईडी जारी करेगा. यूआईडीएआई के मुताबिक इससे आधार कार्ड धारकों को किसी भी सत्यापन के लिए अपने आधार नंबर देन की आवश्यकता नहीं पड़ेगी. सत्यापन के लिए उन्हें सिर्फ अपने वर्चुअल नंबर का प्रयोगकरना पड़ेगा.

यूआईडीएआई की इस पहल का प्रभाव ये होगा कि इससे वो एजेंसी बाहर हो जाएंगी जो आधार नंबर स्टोरेज करती हैं. सभी एजेंसी को नयी व्यवस्था को 1 जून 2018 तक लागू करना होगा.

Loading...
loading...
यह भी पढ़ें:   2,000 रुपये के नोट को लेके असमंजस

कुछ दिनों पहले ही एक अंग्रेजी अखबार ने अपनी समाचार में आधार डाटा को बेचे जाने का दावा किया है. अखबार ने व्हॉट्सऐप पर एक गुमनाम विक्रेता से एक सेवा खरीदने का दावा किया है. यह विक्रेता मजह 500 रुपये अदा करने पर राष्ट्र में अब तक बने 1 अरब आधार कार्ड की जानकारी को निर्बाध रूप से मुहैया कराता है. इस जानकारी में आधार कार्ड बनवाने वाले का नाम, पता, पिन नंबर, फोटो, फोन नंबर  ईमेल आईडी शामिल हैं.

हालांकि केंद्र गवर्नमेंट  आधार कार्ड जारी करने वाली सरकारी एजेंसी यूआईडीएआई ने दावा किया कि आधार का डाटा पूरी तरह सुरक्षित है  इसे कोई लीक नहीं कर सकता, ना ही इसे चुराया जा सकता है.