Home >> National >> क्या विद्यालयों में हिन्दू प्रार्थना होना गलत है

क्या विद्यालयों में हिन्दू प्रार्थना होना गलत है

Related imageनई दिल्‍ली:देशभर के केंद्रीय विद्यालयों में होने वाली प्रार्थना द्वारा हिन्दू धर्म को बढ़ावा देने के विषय में एक जनहित याचिका सुप्रीम न्यायालय में दायर की गई थी, जिस पर सुनवाई करते हुएशीर्ष न्यायलय ने केंद्र गवर्नमेंट को नोटिस जारी करते हुए जवाब तलब किया है

एक एडवोकेट ने सुप्रीम न्यायालय में जनहित याचिका दायर की है जिसमें बोला गया है कि देशभर में स्थित केंद्रीय विद्यालयों में होने वाली हिंदी प्रार्थना के बोलों में हिंदू धर्म को बढ़ावा दिया जा रहा है उनका कहना है कि गवर्नमेंट द्वारा चलाए जा रहे स्‍कूलों में धर्म विशेष को बढ़ावा देना अनुचित है याचिका में आगे लिखा है कि यह संविधान के अनुच्छेद 25  28 के विरूद्ध है  इसे इजाज़त नहीं दी जानी चाहिए उनका कहना है कि कानूनन राज्यों के फंड से चलने वाले संस्थानों में किसी धर्म विशेष को बढ़ावा नहीं दिया जा सकता बता दें कि इन एडवोकेट के बच्चे केन्द्रीय विद्यालय के ही विद्यार्थी हैं

loading...

इस याचिका पर सुनवाई करते हुए, सर्वोच्च कोर्ट ने केंद्र से जवाब मांगते हुए बोला कि यह एक गंभीर संवैधानिक मामला है अब सुप्रीम न्यायालय द्वारा तय किया जाएगा कि क्या देशभर में स्थित 1100 केंद्रीय विद्यालयों में की जाने हिंदी प्रार्थना में एक विशिष्ट धर्म को बढ़ावा दिया जा रहा है या नहीं  क्‍या यह प्रार्थना संविधान का उल्लंघन करती है

Loading...