Home >> International >> अंतरिक्ष में जाने का विश्व रिकॉर्ड बनाने वाले नासा वैज्ञानिक का निधन

अंतरिक्ष में जाने का विश्व रिकॉर्ड बनाने वाले नासा वैज्ञानिक का निधन

Image result for छह बार अंतरिक्ष की यात्रा कर रिकॉर्ड बनाने वाले वैज्ञानिक जॉन यंग का निधनवाशिंगटन : अंतरिक्ष में छह बार जाने वाले, दो बार चंद्रमा की परिक्रमा करने वाले  इसके चट्टानी सतह पर चहल-कदमी करने वाले एक महान अमेरिकी अंतरिक्ष यात्री जॉन यंग का निधन हो गया है यह जानकारी नासा ने दी है अंतरिक्ष एजेंसी ने समाचार दी है कि वह 87 वर्ष के थे  निमोनिया के कारण शुक्रवार देर रात उनका निधन हो गया वह नासा स्पेस सेंटर से कुछ ही मिनटों की दूरी पर स्थित ह्यूस्टन के एक उपनगर में रहते थे नासा ने उनके निधन पर गहरा शोक जाहीर किया है

एजेंसी के प्रशासक रॉर्बट लिघटफुट ने एक बयान में बताया कि नासा  संसार ने एक अग्रणी आदमी को खो दिया है बयान में बोला गया है, ‘‘अगले मानवीय पड़ाव की ओर देखने के कारण हम उनकी उपलब्धियों पर आगे बढ़ेंगे ’’ यंग एक ऐसे आदमी हैं जिन्होंने जैमिनी, अपोलो से अंतरिक्ष में गये  अंतरिक्ष शटल कार्यक्रमों में भाग लिया  छह बार अंतरिक्ष में गयेनासा ने बताया कि एक बार उन्होंने अंतरिक्ष में सबसे अधिक समय व्यतीत करने का विश्व रिकॉर्ड बनाया था  जॉन यंग ने 1962 में नासा के साथ अपना करियर प्रारम्भ किया था चार वर्ष तक उन्होंने लड़ाकू विमान उड़ाए

यह भी पढ़ें:   ऑस्कर से मिला हिंदुस्तान को बड़ा झटका

Astronaut John Young, who passed away at age 87, led a storied career that spanned three generations of spaceflight. He flew to space six times in the Gemini, Apollo & Space Shuttle programs. See images from his career: https://t.co/WOAGKrbo9h pic.twitter.com/WiqjvofHc8

— NASA (@NASA) 7 जनवरी 2018

Loading...
loading...

पांच वर्ष की आयु में पढ़ा इनसाइक्लोपीडिया
जॉन यंग कैलिफोर्निया में पैदा हुआ थे उनका परिवार जॉर्जिया  उसके बाद फ्लोरिडा चला गया पांच वर्ष की आयु में ही यंग ने इनसाइक्लोपीडिया (विश्वकोश) पढ़ा तो उनके पिता को चिंता हुई कि उसे किस तरह पढ़ाया जाए उनके पिता एक सिविल इंजीनियर थे 1952 में उन्होंने जॉर्जिया टैक्नोलॉजी से एरोनॉटिकल इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की  वह भी उच्चतम अंक हासिल करके स्नातक करने के बाद वह नौसेना में शामिल हुए  एक वर्ष तक उन्हें विमान लड़ाकू विमान उड़ाने की ट्रेनिंग के लिए भेजा गया

जॉन यंग ने दो बार चंद्रमा की यात्रा की है (फोटो- NASA)

राष्ट्रपति ने किया फोन
चार वर्ष तक जॉन यंग ने लड़ाकू विमान उड़ाए इसके बाद वे उन्होंने पायलेट ट्रेनिंग पूरी करके तीन वर्ष तक नेवी के एयर टेस्ट सेंटर में कार्य किया इस दौरान तत्कालीन राष्ट्रपति जॉन एफ कैनेडी ने चंद्र मिशन पर जाने के लिए उन्हें फोन किया  मार्च 1965 में जॉन ने एक अंतरिक्ष यात्री के रूप में अपनी उड़ान भरी

नासा
नेशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन (राष्ट्रीय वैमानिकी  अन्तरिक्ष प्रबंधन) यानी नासा अमेरिका की अंतरिक्ष संस्था है नासा का गठन 19 जुलाई, 1948 में नेशनल एडवाइज़री कमिटी फॉर एरोनॉटिक्स (एनसीए) के जगह पर किया गया था इस संस्था ने एक अक्टूबर, 1948 से काम करना प्रारम्भ किया अमेरिकी अंतरिक्ष खोज के सारे प्रोग्रामनासा द्वारा संचालित किए जाते हैं